विश्व जाल पत्रिका अनुरोध भारतीय भाषाओं के प्रतिष्ठापन के लिए समर्पित समस्त संस्थाओं को एकमंच पर लाने हेतु प्रयासरत है। इस विश्व-जाल पत्रिका का प्रकाशन एवं संपादन अवैतनिक अव्यावसायिक एवं मानसेवी होकर समस्त हिन्दी प्रेमियों को समर्पित है।

¤सम्पादकीय कार्यालय : एल.आई.जी., ए.एस.१६/१७, गणपति एन्क्लेव, कोलार रोड, भोपाल-४६२०४२(म.प्र.)¤ ई-मेल : anurodh55@yahoo.com

मुख्य-पृष्ठ|हिन्दी पत्र-पत्रिकाएं| हिन्दी सेवी संस्थाएं| हिन्दीसेवी| पुराने अंक| हिन्दी-कहानियां| हिन्दी-कविताएं| हिन्दी-हास्य-व्यंग्य| हिन्दी के चिट्ठाकार|संपादकीय|आलेख| हिन्दी-विश्व| पुराने समाचार| भारत का संबिधान और हिन्दी| राष्ट्रपति के आदेश| पत्र-पत्रिकाएं| चित्रमय झलकियां| ज्ञापन| आपका कहना है| सम्पादक परिचय| सम्पर्क| अपने विचार लिखें.

पुराने समाचार

"अन्तरराष्ट्रीय हिन्दी उत्सव-२००७" १२ से १४ जनवरी तक दिल्ली में

हिन्दी को राष्ट्रभाषा के रूप में विकसित करें : अर्जुन सिंह

.भारत भारती सम्मान से नवाजे गए नामवर सिंह

अनूप भार्गव और कृष्णकुमार को प्रवासी भारतीय सम्मान

दसवें अ.भा. अम्बिकाप्रसाद दिव्य स्मृति प्रतिष्ठा पुरस्कार घोषित

१४वां अ.भा. हिन्दी साहित्य समारोह २८-२९ अक्टूबर को

साहित्य मंडल ने मप्र के मुख्यमंत्री को पत्र लिखा.

हिन्दी शिक्षक श्री भटनागर को अनिवार्य सेवानिवृत्ति दी गई

दूसरा ई-कविता पाठ अब २ अक्टूबर, २००६ के स्थान पर १ अक्टूबर, २००६ रविवार को होगा

इंटरनेट पर भी होगा हिन्दी का बोलबाला

बच्चों की पढ़ाई मातृभाषा में हो : यशपाल

हिन्दी सर्च इंजन रफ्तार टकराएगा गूगल से

हमें जिन पर गर्व है - डॉ. विजय कुमार भार्गव/प्रो. मन्नालाल जैन

हिन्दी समेत कई क्षेत्रीय भाषाओं में भी कैट

जर्मनी में भी बजा हिंदी का डंका

प्रो. डॉ. जयसिंह नीरद द्वारा दिया गया अभिभाषण

लोकसभा का एक घंटा और १६ भाषाएं

कैथोलिक स्कूल अब हिंदी में भी देंगे शिक्षा

समृद्धि के लिए हिंदी सीखें

गूगल की नजर अब हिंदी किताबों पर

हिन्दी कॊ मान्यता देने कॊ बाध्य होगा संयुक्त राष्ट्रसंघ

स्वतंत्र भारत में अंग्रेजी माध्यम की शिक्षा पद्धति पं- नेहरु की देन

सीधी बात ने एक समान हिन्दी कूंजी पटल की मुहिम छेडी

आई एम डंकी प्रकरण : प्रतिक्रियाएं

अंग्रेजी में छपी सामग्री से सम्बन्धित समाचार

प्रशिक्षण संबंधी महत्वपूर्ण आलेख

आखिरकार हिन्दी सीख ही गया कंप्यूटर

विभिन्न शहरॊं में हुआ दहन कार्यक्रम

हिन्दी से संबंधी समाचार

अमरीकी भारतीयों में हिन्दी के प्रति रुचि बढी

राजभाषा समिति याचिका दायर करेगी

आई एम डंकी तख्ती टांगने की सजा स्कूल कॊ मिली

भाषा संस्कॄति की उपेक्षा की प्रवॄत्ति राष्ट्र के लिये घातक

तकनीकी शिक्षा हिन्दी के बिना अधूरी : श्रीप्रकाश जायसवाल

मुख्य पष्ठ पर जाएं।

हिन्दी के औजार

इंटरनेट पर हिन्दी के संसाधन और औजार-टूल्स<>अनुनाद व नारायण प्रसाद रचित फ़ॉन्ट परिवर्तन डाउनलोड

फ़ॉन्ट रूपांतर डाउनलोड<>हिन्दी में कम्प्यूटर पर कैसे लिखें<>हिन्दी भाषा सॉफ़्टवेयर डाउनलोड कड़ी

हमारा उद्देश्य

हमारा उद्देश्य राष्ट्रभाषा हिन्दी एवं भारतीय भाषाओं की रक्षा एवं देवनागनरी लिपि एवं अन्य भारतीय लिपियों की रक्षा करना है। जरा विचार करें जब भारतीय भाषाएं एवं लिपियां ही नहीं रहेंगी तो इन भाषाओं में लिखे गये साहित्य को कौन पढ़ेगा ? भाषाओं का सम्बन्ध सीधे संस्कृति से जुड़ा होने के कारण जब भाषाएं ही नहीं रहेंगी तो संस्कृति भी धीरे-धीरे विलुप्त हाती जाएगी। अत: भाषा एवं संस्कृति के संरक्षण में आप अपना योगदान किस प्रकार कर सकते हैं, कृपया ई-मेल द्वारा सूचित करें ताकि इनका प्रकाशन इस जाल-स्थल पर किया जा सके।
e-mail : anurodh55@yahoo.com